बंगाल चुनाव में BJP का सियासी हथियार बनेगा CAA?

नागरिकता कानून कब तक होगा लागू, जेपी नड्डा ने दे दिए संकेत

बंगाल- कोरोना की वजह से ठंडे बस्ते में पड़े नागरिकता संशोधन कानून का मुद्दा एक बार फिर चर्चा में आ गया है। अगले साल होने वाले पश्चिम बंगाल चुनाव से ठीक पहले नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का जिन्न फिर से जाग उठा है और ऐसे संकेत हैं कि इसे जल्द ही लागू कर दिया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने सोमवार को कहा कि कोरोना महामारी के कारण नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लागू करने में देरी हुई और दावा किया कि जल्द ही यह कानून लागू किया जाएगा।

भाजपा अध्यक्ष ने पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की सरकार पर ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति पर चलने का आरोप लगाया और विश्वास जताया कि प्रदेश में अगली सरकार भाजपा की बनेगी। अपने एकदिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे नड्डा ने 2021 में प्रस्तावित पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले संगठनात्मक तैयारियों का जायजा लिया और विभिन्न समुदाय के लोगों से चर्चा की और उन्हें संबोधित भी किया।

बीजेपी अध्यक्ष नड्डा बोले- बहुत जल्द लागू होगा CAA, कोरोना के चलते हुई देरी

जेपी नड्डा ने कहा, आपको सीएए मिलेगा और मिलना तय है। अभी नियम बन रहे हैं। कोरोना के कारण थोड़ी रुकावट आई है। जैसे-जैसे कोरोना हट रहा है, नियम तैयार हो रहे हैं। बहुत जल्द आपको उसकी सेवा मिलेगी। इसको हम पूरा करेंगे। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक संसद से पारित होने के बाद कानून बन चुका है और भाजपा इसे लागू करने को लेकर प्रतिबद्ध है। जेपी नड्डा ने सीएए को लेकर ये बातें तब कहीं जब स्थानीय लोगों ने उनसे इसे जल्द से जल्द क्रियान्वित करने का आग्रह किया। उनका कहना था कि उत्तर बंगाल में पूर्वी पाकिस्तान से आए बड़ी संख्या में शरणार्थियों की आबादी है।

मालूम हो कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और सीएए के पक्ष में स्थानीय लोगों की भावनाएं हैं। इसी पर सवार होकर भाजपा ने क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत की है। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने इस क्षेत्र की आठ में से सात सीटें जीती थी। राज्य में विधानसभा का चुनाव अगले साल होने हैं। भाजपा ने अपनी स्थिति मजबूत करते हुए प्रमुख विपक्षी पार्टी के रूप में स्थापित किया है। ममता बनर्जी सत्ता में वापसी के लिए प्रयासरत हैं। उत्तरी बंगाल में राज्य की 294 सदस्यीय विधानसभा की 54 सीटें हैं।

नड्डा ने सीएए को लेकर पार्टी का रुख स्पष्ट करते हुए संकेत दिए कि आगामी चुनाव में यह भाजपा के प्रमुख मुद्दों में शुमार रहेगा। तृणमूल कांग्रेस ने संसद से सड़क तक सीएए का पुरजोर विरोध किया है। भाजपा सूत्रों का कहना है कि सीएए से देश भर में 1.5 करोड़ लोगों को फायदा होगा जिनमें 72 लाख लोग पश्चिम बंगाल के हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *