IPL पर सट्टेबाजी : क्रिकेट मैच की हर गेंद पर लग रहा था दांव

7 सटोरियों, 13 लाख नकद, 01 इनोवा कार और 19 मोबाइल जब्त

सिवनी- जिले में आईपीएल शुरू होते ही दर्जनों सटोरिए सक्रिय हो गए हैं। पुलिस ने सटोरियों की धरपकड़ के लिए अभियान चलाया। जिसमें पुलिस ने कुछ सटोरियों को गिरफ्तार भी किया है। वहीं पुलिस ने सटोरियों के पास से दर्जनों मोबाइल सहित नकदी भी बरामद की है। पुलिस की इस कार्रवाई से सटोरियों में दहशत का माहौल व्याप्त है।

आज फिर एक सटोरियों की गैंग का खुलासा हुआ। इस बार पुलिस ने आईपीएल मैचों पर सट्टा खिलाने वाले 7 सटोरियों को पकड़ा है। आरोपी विभिन्न स्थानों पर बैठकर लाखों रुपए के दांव मोबाइल फोन पर लगवा रहे थे। आरोपियों के पास से पुलिस को 13 लाख 39 हजार 500 रुपए नकद, 19 मोबाइल, 1 टीवी, 2 लैपटॉप और लाखों रुपए के हिसाब की डायरिया जब्त की हैं।

दरअसल आईपीएल शुरू होते ही जिले में सैकड़ों सटोरिए सक्रिय हो जाते हैं। इस हार जीत में कई लोगों को अपनी जमीन और संपत्ति से हाथ धोना पड़ता है। युवा इस सट्टे की चपेट में आकर अपनी जमा पूंजी और जीवन बर्बाद कर रहे है। यहां तक कि कई बार कुछ सटोरिए हारने के बाद अपनी जीवन लीला समाप्त कर लेते है। आज के समय में नेटवर्किंग का मकड़जाल इतना फैला हुआ है सटोरियों को पकड़ पाना बहुत मुश्किल होता है। हालांकि 7 सटोरियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस 3 फरार सटोरियों की तलाश में जुट गई है।

यह है पूरा मामला
नवंबर 10 की रात्रि में थाना कोतवाली में मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि वीरेन्द्र श्रीवास्तव निवासी कटंगी नाका अपने साथियों करन, सागर सुराना, आयुष छबलानी, पीयूष चौरसिया, सागर राय, दया बघेल, स्वपनिल जैन, अंकुर सेंगर, भानू के साथ मिलकर सिवनी व आसपास के क्षेत्रों में आईपीएल लीग मैच के दौरान लोगो से मैचों में हार-जीत, खेल में लगने वाले चौके-छक्के और विकेट गिरने को लेकर लोगों से रुपयो में सट्टे का दॉव लगाकर अत्याधिक मात्रा में अवैध राशि कमा रहे है। तथा वीरेन्द्र श्रीवास्तव फोन पर अपने साथियों को नवंबर 10 को होने वाले मुंबई इंडियन व दिल्ली कैपीटल क्रिक्रेट टीम के बीच हार-जीत पर सट्टे का दांव लगा रहा है एवं लगने वाले दांव का उतारा अपने साथियों को दे रहा है।

सूचना मिलने पर तत्काल थाना प्रभारी कोतवाली महादेव नागोतिया ने अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सुश्री पारुल शर्मा को सूचना दी, जिस पर पुलिस टीम का गठन कर मुखबिर द्वारा बताए गए स्थान पर घेराबंदी कर दबिश दी, जहाँ पर वीरेन्द्र श्रीवास्तव पिता निर्मल श्रीवास्तव पुलिस टीम को देखकर भागने लगा जिसे घेराबंदी कर पकड़ लिया गया। गहनता से पूछताछ करने पर क्रिक्रेट सट्टा का दांव अपने साथियों के माध्यम से लगवाकर अवैध रुपया कमाना बताया । उक्त कथनों के आधार पर वीरेन्द्र के अन्य साथियों को विभिन्न स्थानों से पकड़कर मोबाईल फोन, लेपटाप, कार व नगद रुपये विधिवत् जप्त कर आरोपियों के विरुद्ध थाना कोतवाली सिवनी में अप. क्र. 1404/2020 धारा 4(क) सट्टा एक्ट व 109 ताहि. का प्रकरण पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया। फरार आरोपियों से और जप्ती होने की संभावाना हैं।

पकड़े गए सटोरिये एवं जप्त संपत्ति
करन सूर्यवंशी व सागर सुराना
नगद राशि 10,70,000/-
एक इनोवा कार कीमत 24,00,000/-
तीन फोन कीमत 25,00,00/-

पीयूष चौरसिया
नगद 80,000/-
एक लेपटाप कीमत 55,000/-
आठ फोन कीमत 1,70,500/-

वीरेन्द्र श्रीवास्तव
नगद 13,500/-
एक फोन कीमत 15,000/-

आयुष छवलानी
नगद 50,000/-
एक टीवी 10,000/-,
तीन फोन 85,00,00/-

भानू सूर्यवंशी

नगद 51,000/-
एक फोन कीमत 35,000/-
तीन डायरी पेन केल्कुलेटर

सागर राय
नगद 75,000/-
एक लेपटॉप 25,000/-
तीन फोन 17, 000/-

फरार आरोपी
1. दया बघेल निवासी बीझाबाड़ा सिवनी।
2. स्वापिल जैन निवासी गणेश चौक सिवनी।
3. अंकुर सेंगर निवासी छपारा सिवनी।

जप्त सम्पत्ती
1. कुल नगदी रकम 13,39,500/-
2. फोन कुल 19 नग कीमत लगभग 5,09,500/-
3. लेपटॉप 02 नग की कीमत 80,000/-
4. इनोवा 01 कार कीमत 24,00,000/-
5. टी.वी. 01 नग कीमत 10,000/-

आकाश चौकसे
राज्य ब्यूरो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *