गंगा माई में लगाई श्रद्धा की डुबकी

बालाघाट/कटंगी- कार्तिक पूर्णिमा त्रिपुर उत्सव के दूसरे दिन ग्रामीणों ने गंगा माई में लगाई श्रद्धा की डुबकी किया दीपदान सामूहिक रूप से जरा मोहगांव कार्तिक पूर्णिमा टीपुर उत्सव प्रकाश उत्सव गत नवंबर 30 सोमवार को पूरी आस्था विश्वास और श्रद्धा के साथ भगवान राधा कृष्ण मंदिर में ग्रामीणों तथा दूर दराज से आए हुए श्रद्धालु भक्तों के द्वारा भगवान को रूट मलीदा श्रीफल पान सुपारी से पूजा अर्चना कर अपनी मन्नतें पूर्ण की गई तत्पश्चात रात्रि में 9:30 बजे टीपुर उत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया गया जहां 1000 बतिया बनाई गई थी।
जहां श्रद्धालु भक्तों के द्वारा घी तेल कपूर अपनी अपनी श्रद्धा के साथ दिया गया। तत्पश्चात दीप प्रज्वलित हुआ और सभी ने महाआरती ली तत्पश्चात अपनी मन्नत पूर्ण करने के लिए पंडित के द्वारा कथा पूजन सभी श्रद्धालु भक्त यज मानो के द्वारा कथा पूजन कर प्रसादी का वितरण किया गया तत्पश्चात ग्रामीणों श्रद्धालु भक्तों के द्वारा परंपरा अनुसार दूसरे दिन गंगा माई में श्रद्धा की डुबकी लगाकर दीपदान किया गया इस तिथि को ब्रह्मा विष्णु शिव अंगिरा और आदित्य आदि का दिन भी माना जाता है।
इस दिन किए जाने वाली स्नान दान हवन यज्ञ व उपासना अनंत फल प्राप्त होता है इसलिए ग्रामीण अपनी श्रद्धा अनुसार अपने श्रद्धा प्रकट करने के लिए गंगा माई में श्रद्धा की डुबकी लगा कर दीपदान व सामूहिक रूप से भोजन अपने इष्ट मित्रों के साथ करते हैं ग्रामीण जन एक दूसरे को इस दिन प्रसादी का वितरण भी किया जाता है ज्ञात हो कि इस दिन ग्रामीण जन गंगा माई में सुबह से ही जाकर अपने चूल्हा चक्की जमा कर स्नान ध्यान करने के लिए नदी में जाते हैं और दीपदान कर पान सुपारी चावल से गंगा माई का आव्हान करते हुए श्रद्धा की डुबकी लगाते हैं और विभिन्न पकवान बनाकर सामूहिक रूप से अपने परिवार इष्ट मित्रों के साथ कुटुंब साथ पूजा अर्चना कर दीपदान कर नारियल पानी सुपारी चावल रूट मलीदा चढ़ाते और गंगा माई से अपने परिवार शज्ञ संबंधित एवं गांव की सुख समृद्धि ऐश्वर्या स्वस्थ खुशहाल जीवन की शुभकामना करते हैं ऐसी क्रम पांच दिवसीय तक चलता है फिर रात्रि में भगवान विष्णु यज्ञ की पवित्र पावन धरा पर लगे मिले की खरीददारी शुरू करते हैं किंतु इस वर्ष कोविड-19 यह महामारी प्रकोप के कारण मेला में कोई कार्यक्रम नहीं रखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *