महिलाएं ही महिलाओं की दुश्मन : पारूल शर्मा

मुझे अभिमान है इसका कि मैं हूं अंग वर्दी का,
बड़ी किस्मत से मिलती है ए खाकी रंग वर्दी का…

जी हां आपने सही सुना है खाकी वर्दी के सितारे अलग ही जगमगाते हैं लेकिन इसके पीछे कितने वर्षों की कठिन परिश्रम है। आज यही जाने के लिये जिला सिवनी मुख्यालय स्थित अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सुश्री पारूल शर्मा से खास बातचीत हुई और उन्होंने बताया कि तैयारी शुरू की थी उस समय विश्वास नहीं था कि पुलिस विभाग में आने का मौका मिलेगा पर मैं बहुत सौभाग्यशाली हूं कि पुलिस विभाग में काम करने का मौका मिला।

पुलिस विभाग महकमे के अधिकारी और कर्मचारियों अधिकारी और कर्मचारियों का सहयोग मिला, पिछला एक वर्ष बहुत सारी चुनौतियों में रहा। कोरोना कोविड-19 के बारे में कभी सुना नहीं था सड़कों चौराहे कितना सुना देखा नहीं था। यह हमारे लिए बहुत बड़ा चुनौतीपूर्ण था, इस दौरान काफी बड़े और महत्वपूर्ण लॉयन ऑर्डर को भी डील करने का मौका मिला।

महिलाएं ही महिलाओं की दुश्मन है अगर आपको सम्मान की अपेक्षा है तो सामने वाले का भी सम्मान करना पड़ेगा, जिस दिन महिलाएं महिलाओं का सम्मान करने लगेगी उस दिन हम सही दिशा में कदम बढ़ा सकेंगे महिलाओं के सम्मान के लिए ऐसी कई बातें सुश्री अनुविभागीय अधिकारी पुलिस पारुल शर्मा ने साजा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *